चाय की दुकान पर बर्तन धोने वाले सुदेश लहरी की असल कहानी सुनकर आप रो पड़ेंगे

चाय की दुकान पर बर्तन धोने वाले सुदेश लहरी की असल कहानी सुनकर आप रो पड़ेंगे

गिर कर वो हस्ता है चोट खाकर वो खिलखिलाता है कहते है सब पागल उसे पर वो तो एक जोकर है ये दुनिया ना जाने की अंदर वो जोकर कितने रोता है । इन्ही लाइनों में सुदेश लहरी की पूरी जिंदगी समाई हुई है । कपिल और भारती को कॉमेडी सिखाने वाले सुदेश आज उन्ही के शो में कॉमेडी करने पहुंच गए है । सुदेश पूरी फिल्म इंडस्ट्री के अकेले ऐसे एक्टर है जिन्होंने आज तक स्कूल की शकल तक नही देखी वो बिल्कुल अनपढ़ और अंगूठा छाप है ।

आपको यह बात सुनकर हैरानी होगी लेकिन ये सच है और इसी सच में सुदेश का सारा दुख छुपा है । सुदेश ने गरीबी का वो दौर देखा है जिसे सुनकर आपका दिल फट जाएंगा । सुदेश बहुत गरीब परिवार से आते है । सुदेश बताते है उनके पिता के पास इतने पैसे नही थे की उन्हे स्कूल भेज पाए । घर में खाने को दाना नहीं था इसलिए उन्हें चाय की दुकान पे लगा दिया गया । सुदेश को 1रुपए की पगार मिलती थी और इसी पैसे से उनका घर चलता था ।

सुदेश बताते है की वो नमक के पानी में रोटियां डूबा कर खाया करते थे । सुदेश पंजाब में स्टेज शो कर जैसे तैसे अपना गुजारा करते थे । एक बार एक संस्था ने उन्हे सम्मानित करने की बुलाया तब सुदेश ने उनसे पूछा की क्या आप मुझे कितना देगे तो जवाब मिला ट्रॉफी । सुदेश ने कहा की मेरे पास कई ट्रॉफी है आप इन्हे खरीद लीजिए और बाद में इन्ही ट्रॉफी से मुझे सम्मानित कर दीजियेगा ।सुदेश ने वह ट्रॉफी 300 रुपए में बेच दी और उनसे घर का राशन खरीद लिए ।

सुदेश बताते है की जब उन्हे कोई अपने घर पर बुलाया करता था तो वो उसके घर जाकर नाश्ता मुट्ठी में भर कर अपने घर ले आते थे और अपने बच्चो का पेट भरते थे । सुदेश कहते है की 35 साल की उम्र तक तो शायद उन्होंने भरपेट खाना भी नहीं खाया । वो भूख मारकर भी रातों को सो जाया करते थे । सुदेश की मेहनत का नतीजा देखिए आज उन्होंने कपिल शर्मा , कृष्णा अभिषेक और भारती जैसे बड़े कॉमेडियन फिल्म इंडस्ट्री को दे दिए । गरीबी में जीने वाले सुदेश के पास आज मुंबई और पंजाब सहित कई शहरो में करोड़ो की प्रॉपर्टी है ।

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.