शादी के बाद 27 साल तक पति से अलग रही थीं अल्का याग्निक, जानिए क्या थी वजह?

शादी के बाद 27 साल तक पति से अलग रही थीं अल्का याग्निक, जानिए क्या थी वजह?

अल्का याग्नि​क ने 14 साल की उम्र में म्यूजिक इंडस्ट्री में अपने करियर की शुरुआत की. उन्होंने 2 हजार से ज्यादा गाने रिकॉर्ड किए और 16 भाषाओं में गाने गाए. अल्का अपनी प्रोफेशनल जिंदगी में बेहद कामयाब रही हैं लेकिन उन्होंने अपनी इस कामयाबी के पीछे कहीं न कहीं बहुत सा सैक्रिफाइज भी किया है.

दिग्गज गायिका अल्का याग्निक ने हिंदी सिनेमा का वो दौर देखा है जब आइटम नंबर्स की बजाए खूबसूरत लिरिक्स से सजे गानों को तवज्जो दी जाती थी. लोग भी ऐसे ही गानों को सुनना पसंद करते थे. अल्का आज शनिवार को अपना 55वां जन्मदिन सेलिब्रेट कर रही हैं. ‘प्यार की झंकार’ और ‘मेरे अंगने में’ जैसे गानों से अपने करियर की शुरुआत करने वाली अल्का ने हिंदी सिनेमा को बेहिसाब सुपरहिट गाने दिए हैं.

यहाँ भी पढ़िए  जब Bharti Singh के साथ होने वाला था गलत काम ? होटल के कमरे में निक्कर और बनियान में बैठा था डायरेक्टर

अल्का याग्नि​क ने 14 साल की उम्र में म्यूजिक इंडस्ट्री में अपने करियर की शुरुआत की. उन्होंने 2 हजार से ज्यादा गाने रिकॉर्ड किए और 16 भाषाओं में गाने गाए. अल्का अपनी प्रोफेशनल जिंदगी में बेहद कामयाब रही हैं लेकिन उन्होंने अपनी इस कामयाबी के पीछे कहीं न कहीं बहुत सा सैक्रिफाइज भी किया है. अल्का ने साल 1989 में शिलॉन्ग के बिजनेसमैन नीरज कपूर से शादी की थी. लेकिन दोनों 27 साल से अधिक समय तक एक दूसरे से दूर रहे.

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Alka Yagnik (@therealalkayagnik)

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Alka Yagnik (@therealalkayagnik)

क्या थी दूर रहने की वजह?

नीरज का बिजनेस शिलॉन्ग में था और अल्का को सपनों की नगरी मुंबई में रहकर काम करना होता था. लिहाजा दोनों के लिए एक दूसरे से दूर रहना एक मजबूरी सी बन गई थी. एक दूसरे से दूर रहने के चलते जाहिर तौर पर चुनौतियां सामने आईं लेकिन बावजूद इसके दोनों का रिश्ता बड़ी खूबसूरती से आगे बढ़ता रहा. हालांकि नीरज मौके-बेमौके मुंबई आया-जाया करते थे लेकिन अपनी शादी के अधिकांश दिनों तक अल्का सिंगल मदर रहीं और उन्होंने खुद ही अपने दम पर बच्चों को पाला.

खुद कहा था कि शिलॉन्ग रहो

अल्का ने एक इंटरव्यू में बताया, “नीरज ने मुंबई में बिजनेस शुरू करने की कोशिश की थी. लेकिन वो एक छोटे शहर से थे और मुंबई में खुद को स्थापित नहीं कर पाए. यहां बिजनेस शुरू करने के बाद उनका बहुत सारा पैसा डूब गया. इसलिए मैंने उनसे कहा कि वे शिलॉन्ग में ही अपना बिजनेस करें.” इसके बाद नीरज ने वही रहकर अपना काम जारी रखा और दोनों प्रोफेशनल फ्रंट पर कामयाब रहे.

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.