आर्यन खान की जमानत पर फिर टला फैसला, कल दोपहर 2.30 बजे होगी सुनवाई

आर्यन खान की जमानत पर फिर टला फैसला, कल दोपहर 2.30 बजे होगी सुनवाई

बॉम्बे हाई कोर्ट (Bombay High Court) ने बुधवार को शाहरुख खान (Shah Rukh Khan) के बेटे आर्यन खान (Aryan Khan), अरबाज मर्चेंट (Arbaaz Merchant) और मुनमुन धमेचा (Munmun Dhamecha) की जमानत याचिका पर सुनवाई 28 अक्टूबर तक के लिए स्थगित कर दी है। दूसरे दिन की सुनवाई में अरबाज मर्चेंट, आर्यन खान और मुनमुन धमेचा के वकीलों ने अपना पक्ष रखा। नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) के एएसजी अनिल सिंह गुरुवार को दलीलों का जवाब देंगे।

अरबाज मर्चेंट की ओर से वरिष्ठ वकील अमित देसाई ने साजिश के एंगल को खारिज कर दिया। उन्होंने कहा कि तीनों आरोपियों पर धारा 20 (बी) और 27 लगी है “जिसका मतलब है कि तीनों लोग वहां केवल उपभोग के लिए आए थे”।

यहाँ भी पढ़िए  करोड़ो में खेलते है सलमान आलीशान गाड़ियों से लेकर प्राइवेट जेट के है मालिक

उन्होंने कहा, “अगर उस समय कोई साजिश नहीं थी तो सजा 1 साल थी। जांच अधिकारी को 41 (ए) के तहत नोटिस जारी करना चाहिए था।” देसाई ने आगे सवाल किया कि अगर गिरफ्तारी के समय साजिश को नहीं जोड़ा गया था तो “यह बाद में कैसे आई।” उन्होंने कहा- “गिरफ्तारी अवैध थी। मैं सुप्रीम कोर्ट के एक फैसले की ओर इशारा करता हूं जो कहता है कि गिरफ्तारी एक बेहद मजबूत उपाय है और इसका इस्तेमाल केवल आरोपी को एक और अपराध करने या उसे कानून से भागने से रोकने के लिए किया जाना चाहिए।”

उन्होंने कहा कि ‘आर्यन, अरबाज और मुनमुन के गिरफ्तारी ज्ञापन से यह संकेत नहीं मिलता है कि उन्हें साजिश के लिए गिरफ्तार किया गया था, बल्कि कब्जे / उपभोग के लिए किया गया था’। देसाई ने कहा, “साजिश को बाद में जोड़ा गया था। स्पेशल कोर्ट को अभियोजन पक्ष ने गुमराह किया था कि उन्हें साजिश के लिए गिरफ्तार किया गया है।”

यहाँ भी पढ़िए  रोते हुए आमिर खान ने दिया बयान- लोग इसलिए बॉयकॉट कर रहे क्युकी उन्हें लगता मैं भारत से प्यार नहीं करता

अमित देसाई ने स्वीकार किया कि उनके क्लाइंट ने ‘चरस’ का सेवन किया। उन्होंने कहा- ‘यह केवल व्यक्तिगत खपत का मामला है’।

आरोपी मुनमुन धमेचा के वकील काशिफ खान देशमुख ने उसकी जमानत के लिए दलील देते हुए कहा कि उनकी क्लाइंट एक फैशन मॉडल है और स्टेज शो और रैंप वॉक करती है। उन्होंने कहा, “मुझे (मुनमुन) मेरे पेशेवर दायित्वों के लिए क्रूज पर एक व्यक्ति द्वारा आमंत्रित किया गया था।”

उन्होंने तर्क दिया कि NCB द्वारा की गई तलाशी के दौरान उनके क्लाइंट से कुछ भी बरामद नहीं हुआ है। उन्होंने कहा कि “मुनमुन के खिलाफ मामला दूसरे मामले से कॉपी-पेस्ट है। मुनमुन को बलि का बकरा बनाया गया है।” उन्होंने कहा कि ‘कमरे से बरामद ड्रग्स अन्य आरोपी सौम्या और बलदेव से जुड़े थे’।

यहाँ भी पढ़िए  जल्दी बच्चे पैदा करो और मस्त रहो: रणबीर-आलिया को संजय दत्त ने दिए ‘सुखी वैवाहिक जीवन’ के टिप्स

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.