रवीना टंडन कैसे रातों रात बन गई थी सुपरस्टार , इसके पीछे है यह काला सच जानिए

रवीना टंडन कैसे रातों रात बन गई थी सुपरस्टार , इसके पीछे है यह काला सच जानिए

90 के दशक की सबसे मशहूर अभिनेत्रियों में रवीना टंडन भी शामिल है । रवीना उस समय कॉलेज में थी जब उन्हे शांतनु शिरॉय से एक फिल्म का ऑफर मिला । बचपन से फिल्मों से लगाव के कारण रवीना ने कॉलेज छोड़ दिया और फिल्म को हा कह दिया । रवीना ने 1992 दशक में आई फिल्म ” पत्थर के फुल ” से बॉलीवुड में अपने कैरियर की शुरुवात की । पत्थर के फुल बॉलीवुड में जबरदस्त फिल्म रही और इसी के साथ रवीना ने खुद को बॉलीवुड में स्थापित कर लिया ।

रवीना टंडन की शादी बिजनेस मैन अनिल से हुई है । उनकी 3 बेटियां है और एक बेटा है , जिनमे 2 बेटियो को उन्होंने गोद लिया है । रवीना का शुरुवाती फिल्मों कैरियर बेहद ही शानदार रहा था । उनकी डेब्यू फिल्म हिट साबित हुई थी जिसके लिए उन्हें फिल्म फेयर से सम्बोधित किया गया था । इसके बाद मोहराम, दिलवाले जैसी सुपरहिट फिल्मों में नजर आई । रवीना ने अपने फिल्मों कैरियर में हर तरह की फिल्मों में भूमिका निभाई चाहे वो एक्शन हो , रोमांस हो या कॉमेडी । वह हर फिल्म में काफी बेहतर भरा आई ।

यहाँ भी पढ़िए  अक्षय जन्मदिन पर मां को याद कर भावुक हुए , सोशल मीडिया पर बयान किया अपना दर्द

साल 1995 में वह फिल्म “जमाना दीवाना” में सिल्वर स्क्रीन पर शारूख संग रोमांस करती हुई नजर आई लेकिन ये फिल्म दर्शको को अपनी और नही खीच पाई । जिसके चलते बॉक्स ऑफिस पर बुरी तरह फ्लॉप हुई थी । इस के बाद कई सफल फिल्मों में बेहतरीन भूमिका निभाती हुई नजर आई । हालांकि उन्होंने बाद में किसी कारण से हिंदी फिल्मों से ब्रेक ले लिया और फिल्मों के प्रस्ताव ठुकरा दिए । जो फिल्मे बाद में ब्लॉकबस्टर हिट साबित हुई । साल 1996 में वे एक बार अक्षय कुमार के साथ “खिलाड़ियों का खिलाड़ी” में नजर आई । ये फिल्म उस साल की हिट फिल्म में शुमार हुई । इसके बाद वही सनी देओल संग फिल्म “जिद्दी” में नजर आई । ये एक्शन रोमांस बेस्ड फिल्म थी । इस फिल्म में रवीना ने काफी बेहतरीन भूमिका अदा की थी । वे अपने हिंदी सिनेमा कैरियर से पहली बार फिल्म दस में खलनायक का किरदार निभाने वाली थी । लेकिन निर्देशक के ‘मृत्यु’ के बाद इस फिल्म की शूटिंग को रोक दिया गया था । रवीना ने अपने फिल्मों कैरियर में कई बेहतरीन फिल्मों के प्रस्तावों को मना का दिया , जिसका अफसोस शायद उन्हें उन फिल्मोंके रिलीज होने के बाद हुआ होगा ।

यहाँ भी पढ़िए  सुपरस्टार रजनीकांत ने देखी कंगना रनौत की फिल्म ‘थलाइवी’, एक्टिंग को लेकर दिया ऐसा रिएक्शन

अगर रवीना उन फिल्मों में अभिनेय करती तो शायद उस दशक की अभिनेत्रियों में शमिल होती । साल 1998 में उनकी 8 फिल्मे रिलीज हुई । उनकी आखिरी फिल्म मेगा स्टार अमिताभ बच्चन स्टार फिल्म “बड़े मियां छोटे मियां ” थी । ये फिल्म उस साल के सबसे बड़ी दूसरी हिट फिल्म साबित हुई थी । फिल्म जेड३कुछ कुछ होता है’ में काजोल का रोल ऑफर किया गया था जिसे उन्होंने ठुकरा दिया था । बाद में ये फिल्म उस साल की सबसे बड़ी ब्लॉकबस्टर हिट साबित हुई थी उसी साल वह फिल्म “घरवाली बाहरवाली” में नजर आई । इस फिल्म में अनिल कपूर और रवीना टंडन मुख्य भूमिका में नजर आए थे । फिल्म ने बॉक्सऑफिस पर बहुत कमाई को थी । उसी साल विनाशक , परदेसी बाबू , आंटी नंबर 1 में भी नजर आई थी जो बॉक्स ऑफिस पर बुरी तरह फ्लॉप साबित हुई । तो ये थी रवीना को पूरी बॉलीवुड यात्रा ।

यहाँ भी पढ़िए  अर्जुन कपूर बोले- मर्दो को प्यार नहीं जिस्म चाहिए, बुरी तरिके से भड़की मलाइका, ब्रेकअप….

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.