इनकम टैक्स अधिकारियों ने की सोनू सूद की तारीफ, एक्टर बोले-मिस करूंगा

इनकम टैक्स अधिकारियों ने की सोनू सूद की तारीफ, एक्टर बोले-मिस करूंगा

मुंबई, सितंबर 25: लॉकडाउन में प्रवासी मजदूरों की मदद करके सुर्खियों में आए एक्टर सोनू सूद के घर पर हाल में आयकर विभाग ने छापेमारी की थी। यह छापा करीब 4 दिन चला था। इस मामले पर सोनू सूद की ओर से जवाब आया है। अभिनेता सोनू सूद ने कहा है कि हाल ही में उनके घर छापेमारी करने पहुंचे कर अधिकारियों का उन्होंने काफी ख्याल रखा। आयकर विभाग के अनुसार, सोनू और उसके सहयोगी विदेश से धन जुटाने के दौरान 20 करोड़ रुपये की कर चोरी और विदेशी योगदान विनियमन अधिनियम (एफसीआरए) के उल्लंघन में शामिल थे।

हेराफेरी के आरोपों से किया इनकार

‘बॉम्बे टाइम्स’ से बात करते हुए सोनू ने कहा, ‘मैंने टैक्स अधिकारियों को सारे डॉक्यूमेंट्स दिए हैं। यहां तक कि उनको जो चाहिए थे उससे ज्यादा दिए हैं। मेरे पास लखनऊ या जयपुर में एक इंच भी जमीन नहीं है जिसके आरोप लगाए गए हैं। जहां तक विदेशी चंदे में हेराफेरी की बात है तो कोई भी कंपनी जो 3 साल या ज्यादा सालों से रजिस्टर्ड है, उसे फंड पाने के लिए FCRA में रजिस्टर कराना होता है।

यहाँ भी पढ़िए  IPL 2021: आयशा मुखर्जी से तलाक के बाद शिखर धवन ने की बेटे जोरावर संग मस्ती, शेयर की मजेदार फोटो

‘ये विदेशी चंदा नहीं बल्कि क्राउडफंडिंग से इकट्ठा हुआ पैसा है’

सोनू सूद ने आगे कहा कि, मेरा फाउंडेशन रजिस्टर ही नहीं है तो मैं ऐसे फंड्स ले ही नहीं सकता हूं। ये विदेशी चंदा नहीं बल्कि क्राउडफंडिंग से इकट्ठा हुआ पैसा है। सारी मदद सीधे क्राउडफंडिंग प्लेटफॉर्म से अस्पताल पहुंच रही जहां जरूरतमंदों का इलाज किया जा रहा है या एजुकेशन के लिए मदद दी जा रही। यह आरोप ही गलत है क्योंकि पैसा ना तो इंडिया में आया है और ना ही मेरे फाउंडेशन में। मेरे अकाउंट में एक डॉलर तक नहीं आया है।

‘हमने सारे दस्तावेज इनकम टैक्स अधिकारियों को सौंप दिए’

सोनू ने बताया कि मेरे ऊपर एफसीआरए का उल्लंघन करने का आरोप सरासर गलत है, क्योंकि धन भारत या मेरे फाउंडेशन में आया ही नहीं। मेरे अकाउंट में एक डॉलर या सेंट या एक पैसा भी नहीं आया। हमने जिन जिन लोगों का इलाज करवाया उससे संबंधित सारे डिटेल्स हमारे पास है। जैसे हॉस्पिटल, डॉक्टर, यहां तक कि उनके पैन नंबर, फोन नंबर भी हमने अधिकारियों को मुहैया करवाया। हमारे पास हर एक चीज रिकॉर्ड में है, जैसे हमने किसकी मदद की, कैसे की? हमने सारे दस्तावेज इनकम टैक्स अधिकारियों को सौंप दिया।

यहाँ भी पढ़िए  उर्फी जावेद ने बयां किया अपना दर्द, कहा- पिता मेरे साथ शा’रीरिक

‘बचे हुए फंड का इस्तेमाल करने के लिए मेरे पास समय है’

दान में मिले पैसे का पूरा इस्तेमाल ना करने के आऱोपों पर उन्होंने कहा, ‘किसी भी फाउंडेशन को मिले फंड को इस्तेमाल करने के लिए एक साल का वक्त होता है। अगर फंड्स इस्तेमाल नहीं किए जाते हैं तो आप एक साल और इन्हें इस्तेमाल करने के लिए बढ़ोतरी कर सकती है। मैंने अपनी फाउंडेशन का रजिस्ट्रेशन कुछ महीने पहले ही कराया है। इससे पहले हम पैसा इकट्ठा ही नहीं कर रहे थे। मैंने पिछले 4-5 महीने से ही पैसा इकट्ठा किया है। नियम के हिसाब से मैं इस पैसे को 7-8 महीने में कहीं भी इस्तेमाल कर सकता हूं।

यहाँ भी पढ़िए  अपनी सहायता करने वाली की ही सौतन बन गई स्मृति ईरानी; जानिये कैसे तोड़ा सहेली का बसा बसाया घर –

मैंने टैक्स अधिकारियों का बहुत ख्याल रखा: सोनू

सोनू ने कहा कि, मैं एक बहुत अच्छा होस्ट हूं और मैंने टैक्स अधिकारियों का बहुत ख्याल रखा। 4 दिनों के बाद टैक्स अधिकारियों ने भी माना कि यह उनका अभी तक का सबसे अच्छा एक्सपीरियंस था। मैंने कहा मैं आप लोगों को मिस करूंगा तो सबने एक साथ ठहाका लगाया. इसके अलावा उन्होंने मेरे काम की तारीफ करते हुए कहा कि आपके काम के बारे में हमे पता है और आप जो कर रहे हैं वह अद्भुत है। साथ ही राजनीति में आने अटकलों पर एक्टर ने कहा कि, ‘मैं राजनीति की बहुत इज्जत करता हूं। हमारे पास पहले ही अच्छे पॉलिटिशंस हैं। जहां तक मेरी बात है तो मैं इसके लिए अभी मानसिक तौर पर तैयार नहीं हूं। मुझे नहीं पता 2 साल या 4 साल के बाद क्या होगा।

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.