’10 सालों में बेटे के साथ लगातार नहीं बिताए 10 दिन’, कैलाश खेर ने खोले कई राज

’10 सालों में बेटे के साथ लगातार नहीं बिताए 10 दिन’, कैलाश खेर ने खोले कई राज

बेटे संग टाइम स्पेंड करने पर कैलाश खेर ने कहा, “पिछले 10 सालों में मैंने उसके साथ लगातार 10 दिन भी नहीं बिताए होंगे.  मेरा सिंगिंग करियर अब 15 साल से ज्यादा का हो गया है. ये समय इतनी तेजी से गुजरा कि मैं अपने बेटे के साथ टाइम ही नहीं स्पेंड कर सका. मुझे 10 दिन भी इकठ्ठे नहीं मिले कबीर के साथ.”

कैलाश खेर सिंगिंग की दुनिया में एक बड़ा नाम हैं. कैलाश खेर की गायकी और उनके रूहानी गाने दिल को छू लेते हैं. कई हिट गानों में वो अपनी आवाज का जादू बिखेर चुके हैं. कोरोना महामारी में जहां दूसरे सिंगर्स डिजिटल प्लेटफॉर्म के जरिए अपने गानों को लॉन्च कर रहे थे, तो वहीं कैलाश खेर ने इस दौरान अपने 11 साल के बेटे कबीर के साथ टाइम स्पेंड करने का फैसला किया.

कैलाश खेर को पेंडेमिक ने कराया इन चीजों का एहसास

अल्लाह के बंदे, तेरी दीवानी और यूं ही चला चल राही जैसे गानों से फैंस के दिलों में खास जगह बनाने वाले सिंगर कैलाश खेर ने अब TOI संग अपने एक इंटरव्यू में अपनी पर्सनल लाइफ को लेकर कई राज खोले हैं. उन्होंने कहा, “पिछले 16 महीनों ने दुनिया को एक नया लेसन सिखाया है. ये समय बहुत कुछ सीखने, नए सर्प्राइज और मूड स्विंग से भरा रहा है. पेंडेमिक ने बहुत कुछ सिखाया है और एहसास भी कराया है. यह अच्छा, बुरा,नमकीन और खट्टा रहा है.”

बेटे के साथ लगातार कभी नहीं बिताए 10 दिन

बेटे संग टाइम स्पेंड करने पर कैलाश खेर ने कहा, “पिछले 10 सालों में मैंने उसके साथ लगातार 10 दिन भी नहीं बिताए होंगे.  मेरा सिंगिंग करियर अब 15 साल से ज्यादा का हो गया है. ये समय इतनी तेजी से गुजरा कि मैं अपने बेटे के साथ टाइम ही नहीं स्पेंड कर सका. मुझे 10 दिन भी इकठ्ठे नहीं मिले कबीर के साथ.”

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Kailash Kher (@kailashkher)


सिंगर ने आगे कहा, “लेकिन पिछले साल से मैंने अपने बेटे के साथ काफी समय बिताया है. मैंने उससे बहुत कुछ सीखा है. उसकी आत्मा बहुत शुद्ध है. नई आत्माएं बहुत पवित्र होती हैं और उनके विचार आपको बहुत कुछ सिखा देते हैं.”

कैलाश खेर को है अपने काम से प्यार

बेटे के बारे में बात करते हुए उन्होंने आगे कहा, “अपने बच्चों के साथ समय गुजारते समय आपको बहुत कुछ नया सीखने को मिलता है. कबीर हमेशा मुझे बोलता है पापा आपको आराम करना चाहिए. आपको वेकेशन पर जाना चाहिए. लेकिन मैं उसे हमेशा ये कहता हूं कि मुझे वेकेशन की जरूरत नहीं है. मेरी जिंदगी ही एक हॉलीडे की तरह है. मुझे अपने काम से प्यार है तो ये मेरे लिए एक म्यूजिकल वेकेशन है.”

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.