पैसों के कारण अटकी मुनमुन धमेचा की रिहाई, वकील बोले- हमारे पास 1 लाख रुपये नहीं

पैसों के कारण अटकी मुनमुन धमेचा की रिहाई, वकील बोले- हमारे पास 1 लाख रुपये नहीं

 

क्रूज ड्रग्स केस (Cruise drugs case) में आर्यन खान (Aryan Khan) के साथ-साथ अरबाज मर्चेंट (Arbaaz Merchantt) और मुनमुन धमेचा (Munmun Dhamecha) को जमानत दे दी गई। जहां आर्यन और अरबाज रिहा हो गए हैं, वहीं बेल बॉन्ड के पैसे न भर पाने के कारण मुनमुन की रिहाई अटक गई है।

क्रूज ड्रग्स केस में आर्यन खान (Aryan Khan) आर्थर रोड जेल से रिहा होकर अपने घर ‘मन्नत’ भी पहुंच चुके हैं, लेकिन मुनमुन धमेचा (Munmun Dhamecha) की रिहाई अटक गई है। दरअसल मुनमुन को जमानत के पैसों की व्यवस्था करने में दिक्कत हो रही है। मुनमुन धमेचा को एनसीबी ने आर्यन खान और अरबाज मर्चेंट (Arbaaz Merchantt) के साथ क्रूज पर छापेमारी के बाद पकड़ा था। आर्यन के साथ-साथ मुनमुन और अरबाज को भी बॉम्बे हाई कोर्ट ने 1 लाख रुपये के निजी मुचलके पर जमानत दे दी थी। लेकिन मुनमुन धमेचा को 1 लाख का निजी मुचलका भरने में दिक्कत आ रही है, इसलिए अब उनके वकील अस्थायी नकद जमानत पर उनकी रिहाई के लिए अर्जी दाखिल करेंगे।

यहाँ भी पढ़िए  Sanjay Dutt ने खोले अपनी पर्सनल लाइफ के राज, कहा- 350 लड़कियों से मैंने बनाए शारीरिक संबंध….

हमारे सहयोगी टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक, मुनमुन धमेचा के वकील ने अब अस्थायी नकद जमानत पर उनकी रिहाई के लिए बॉम्बे हाई कोर्ट के समझ अर्चेंट अर्जी दाखिल की है। मुनमुन धमेचा मध्य प्रदेश की रहने वाली हैं और उन्हें जमानत के लिए श्यॉरिटी अमाउंट की व्यवस्था करने में खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

जस्टिस नितिन साम्ब्रे ने धमेचा के वकील से एप्लिकेशन फाइल करने औक वकेशन बेंच के समक्ष मामला उल्लेख करने करने के लिए कहा। बता दें कि हाई कोर्ट में मुनमुन धमेचा के वकील अली काशिफ खान देशमुख ने अपने मुवक्किल की गिरफ्तारी को अवैध ठहराया था। उन्होंने एनसीबी पर निशाना साधते हुए कहा था कि मुनमुन के पास से क्रूज पर कोई ड्रग्स बरामद नहीं हुए थे और न ही उन्होंने कोई सेवन किया था। बल्कि जब वह क्रूज पर पहुंचीं तो उसके चंद मिनट बाद ही एनसीबी छापेमारी के लिए पहुंच गई थी।

यहाँ भी पढ़िए  करिश्मा कपूर बिना फिल्मों में काम करे कैसे उठाती है, अपने बच्चो का खर्चा।

खान ने यह भी कहा था कि मुनमुन धमेचा क्रूज पर जिस कमरे में थीं, वहां पर सौम्या सिंह और बलदेव नाम के दो और लोग मौजूद थे, लेकिन एनसीबी ने सिर्फ मुनमुन को हिरासत में क्यों लिया।

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.