‘एक काम करो अपने जमाई की सेवा करो’ जब डिंपल कपाड़िया ने गहरी नींद में सोए अक्षय को कर दिया था परेशान

‘एक काम करो अपने जमाई की सेवा करो’ जब डिंपल कपाड़िया ने गहरी नींद में सोए अक्षय को कर दिया था परेशान

इस बात में कोई दोराय नहीं कि डिंपल कपाड़िया एक पावरफुल सास हैं, जो अपने दामाद अक्षय कुमार की तारीफ करने का कभी कोई मौका नहीं छोड़ती हैं।

बॉलीवुड एक्ट्रेस हेमा मालिनी ने अपने एक इंटरव्यू में बेटा न होने का दर्द बयां करते हुए कहा था कि ‘लोगों ने हमेशा मुझे याद दिलाया कि मेरा कोई बेटा नहीं है, केवल दो बेटियां हैं। लेकिन मैं उन्हें बताना चाहती हूं कि अब मेरे दो बेटे भी हैं। मेरे दोनों दामाद मेरे अपने बेटों की तरह ही अच्छे हैं, जो मेरा बहुत ख्याल रखते हैं।’ इस बात में कोई दोराय नहीं कि बदलते तौर-तरीकों के बीच सास-दामाद का रिश्ता भी पहले से बहुत ज्यादा बदल चुका है। दोनों के बीच अब रिश्तेदारी कम बल्कि कम दोस्ती ने अधिक जगह बना ली है। यही एक वजह भी है कि सास बेटी की मां की तरह नहीं बल्कि एक दोस्त की तरह अपने दामाद से पेश आती है।

ऐसा ही एक खूबसूरत रिश्ता बॉलीवुड एक्टर अक्षय कुमार (Akshay Kumar) और उनकी सास डिंपल कपाड़िया (Dimple Kapadia) के बीच भी है, जो ज्यादातर मौके पर एक-दूसरे की तारीफ करते नजर आ जाते हैं। ऐसा हम यूं ही नहीं बल्कि एक इंटरव्यू में डिंपल कपाड़िया ने उस किस्से का जिक्र किया था, जब गहरी नींद में होते हुए भी अक्षय ने उनकी टांग खींचने का कोई मौका अपने हाथ से नहीं जाने दिया था। (फोटोज-इंडिया टाइम्स)

बातों ही बातों में अक्षय ने कह दी मन की बात

दरअसल, यह सारा मांजरा उस समय का है, जब डिंपल कपाड़िया अपनी बेटी ट्विंकल खन्ना के बुक लॉन्च इवेंट में पहुंची थीं। इस दौरान उन्होंने अक्षय संग अपनी क्यूट बॉन्डिंग पर बात करते हुए कहा था ‘अक्षय कुमार मेरे लिए एक बेटे से अधिक हैं। मुझे उनसे जो प्यार है, उसकी तुलना किसी दूसरे से नहीं की जा सकती है। उनके साथ बिताया हुआ समय कभी भी सुस्त पल नहीं होता है। वह हमेशा कुछ न कुछ बात करते रहते हैं, जो आपको कभी भी बोर नहीं होने देती है।

मुझे याद है कि जब मैं एक बार एक पंडित (पुजारी) को बुलाने के लिए कॉल कर रही थी, लेकिन नंबर ठीक से नहीं देख पाने के कारण वह कॉल अक्षय को लग गया था। फिर कॉल पर उधर से अक्षय ने नींद में जवाब दिया और कहा एक काम करो… अपने दामाद की पूरी सेवा करो। तब मुझे एहसास हुआ कि यह पंडित जी नहीं बल्कि अक्षय है, जो मेरे साथ शरारत कर रहे हैं। अक्षय का नेचर छोटे बच्चों की तरह है, जो मुझे बहुत पसंद है।’

बदलाव कभी-कभी रिश्तों के लिए अच्छा

वह जमाना बहुत पीछे छूट गया, जब दामाद अपने सास-ससुर के सामने चुपचाप बैठे रहते थे। आज के समय में न केवल दामाद ससुराल वालों के सामने अपनी बातों को खुलकर रख रहे हैं बल्कि सास-ससुर की भावनाओं को भी समझते हैं। ऐसा हम यूं ही नहीं बल्कि आपको ऐसे कई उदाहरण देखने को मिल जाएंगे, जहां बेटियां इकलौती होती हैं, वहां दामाद भी अपनी पत्नी के परिवार वालों की बहुत मदद करते हैं।

पहले भले ही इस रिश्ते में एक संकोच रहता था। लेकिन समय के साथ आए बदलाव से न केवल लोगों की सोच बदली है बल्कि दोस्ताना व्यवहार भी इस रिश्ते में देखने को मिल रहा है।

दूरी की जगह ट्रांसपेरेंसी

अक्षय कुमार-डिंपल कपाड़िया ही नहीं बल्कि फिल्मी गलियारे में ऐसी बहुत से सास-दामाद की जोड़ी है, जो अपने मधुर संबंध की वजह से हमेशा ही चर्चा में बनी रहती है। इसमें से एक नीतू कपूर भी हैं, जो अपनी बेटी रिद्धिमा कपूर साहनी के पति भारत साहनी के साथ एक प्यार भरा रिश्ता शेयर करती हैं।

दोनों की ख़ूबसूरत बॉन्डिंग का अंदाजा आप इसी से लगा लीजिए कि जब ऋषि कपूर का देहांत हुआ था, तब उनके दामाद हर पल अपनी पत्नी के परिवार संग नजर आए थे। तब लोगों को पता चला था कि दोनों सास-दामाद से बढ़कर एक अच्छे दोस्त हैं, जो रिश्तों की जरूरतों को बहुत अच्छे से समझते हैं। यही एक वजह भी है कि पहले जहां इन रिश्तों में एक दूरी थी वहां अब ट्रांसपेरेंसी ने अपनी जगह पक्की कर ली है।

अपनेपन की छिपी भावना

इस बात में कोई दोराय नहीं कि बचपन से ही लड़कों को सिखाया जाता है कि दामाद यानी खास मतलब ससुराल पक्ष के लिए सर्वेसर्वा। हालांकि, आज के समय में इन बातों का कोई मोल नहीं रह गया है। दामाद बनने जा रहा हर लड़का आज के समय में बेटा बनने की ख्वाहिश रखता है। यही एक वजह भी है कि शादी के बाद लड़के पत्नी के घर में भी अपनी सलाह-मशवरा और मदद के लिए आगे रहते हैं। अक्षय कुमार-डिंपल कपाड़िया भी उन्हीं में से एक हैं, जो किसी भी नए काम को करने से पहले एक-दूसरे की सलाह लेना पसंद करते हैं।

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.