‘आपके कर्म तय करते हैं आपको कैसा लड़का मिलेगा’ तलाक के दौरान करिश्मा कपूर ने जब की थी कर्मों की बात

‘आपके कर्म तय करते हैं आपको कैसा लड़का मिलेगा’ तलाक के दौरान करिश्मा कपूर ने जब की थी कर्मों की बात

करिश्मा ने प्यार को लेकर पूर्व जिंदगी के कर्मों का जिक्र किया था। लेकिन क्या सच में कर्म जैसी कोई चीज होती है?

करिश्मा कपूर हिन्दी सिनेमा में ऐसा नाम रहीं, जिनका नाम कॉन्ट्रोवर्सी से भी दूर ही रहा करता था। हालांकि, उनकी पर्सनल लाइफ में तलाक के रूप में ऐसा ट्विस्ट आया, जिसने उनकी जिंदगी को ही गॉसिप कॉलम का हिस्सा बना डाला। ये अदाकारा और उनके परिवार के लिए सबसे मुश्किल भरे समय में से एक रहा। हालांकि, इस सबके बावजूद करिश्मा ने हमेशा चुप्पी साधे रखी और अपनी मैरिड लाइफ पर कोई भी कॉमेंट करने से बचीं। एक इंटरव्यू के दौरान जरूर उन्होंने प्यार को लेकर बात की थी। ये वो समय था जब एक्ट्रेस के तलाक लेने की चर्चा जोरों पर थीं। (फोटो साभार: इंडियाटाइम्स)

करिश्मा ने की थी कर्म पर बात

फिल्म ‘डैंजरस इशक 3डी’ के एक प्रमोशनल इंटरव्यू के दौरान इस अदाकारा से लव को लेकर सवाल हुआ था। उनसे पूछा गया था कि व्यक्ति तब क्या करता है, जब उसकी जिंदगी में आया प्यार उसके लिए खतरनाक बन जाता है? इस पर लोलो ने जवाब दिया था कि ‘किसी से प्यार करना अहमियत रखता है, लेकिन आपको सही लड़का मिलेगा या नहीं, ये आपके कर्म पर निर्भर करता है।’ वहीं इसके बाद जब उनसे तलाक को लेकर सवाल हुआ, तो अदाकारा ने पर्सनल लाइफ पर कॉमेंट करने से इनकार कर दिया।

क्या सच में काम करता है कर्म?

ज्योतिषी और मनोचिकित्सक डॉक्टर काजल मुगराई ने TOI के लिए लिखे एक लेख में इस बात का जिक्र किया था कि कैसे पूर्व जन्म में किए गए कर्म मौजूदा रिश्तों पर असर डालते हैं। उन्होंने लिखा था कि कुछ लोगों को अपने जीवन में पार्टनर से धोखा ही मिलता है। उनकी जिंदगी में चाहे जितने ही साथी आएं, लेकिन उनके लिए ये परिस्थितियां बदलती नहीं हैं। इसके पीछे की बड़ी वजह उनके पिछले जन्मों के कर्म होते हैं।

जीवनकाल में देना होता है हिसाब

उन्होंने आगे बताया था कि मनुष्य योनि में व्यक्ति 500 से ज्यादा बार जन्म लेता है और हर जिंदगी में वह अच्छे व बुरे दोनों काम करता है। उसके ये ही कर्म अगले जन्म में उसकी जिंदगी पर असर डालते हैं। अच्छे कर्मों के लिए उसे अच्छा फल और बुरे के लिए बुरा फल मिलता है। ये जीवनचक्र ऐसा ही चलता रहता है और हर जन्म के साथ व्यक्ति अपने पूर्व जन्म के कर्मों का हिसाब देता है।

बहू को यूं दे रहे हिसाब

उन्होंने इसके लिए उदाहरण भी दिए थे, जिनमें से एक लड़की से जुड़ा था। डॉक्टर काजल ने साझा किया था कि उनके पास एक जोड़ा अपनी 18 साल की बेटी को लेकर आया था, जो मानसिक व शारीरिक रूप से अक्षम थी। उसकी ऐसी स्थिति क्यों थी और उस कपल को ऐसी संतान क्यों हुई, इसे जानने के लिए जब पूर्व जन्म देखा गया, तो सामने आया कि इस पति-पत्नी की जो बेटी है, वह पिछले जन्म में उनकी बहू हुआ करती थी। उसे उन्होंने दहेज प्रताड़ना देते हुए जला दिया था। ये उनके कर्मों का ही फल है, जिसे वे इस जन्म में भुगत रहे हैं।

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.